टीकाकरण केन्द्र पर लिंग परीक्षण का खेल उजागर स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारीयों की मिलीभगत से चल रहा था

टीकाकरण केंद्र पर चल रहा था अल्ट्रासाउंड सेन्टर हरियाणा स्वास्थ्य विभाग की टीम ने बुलन्दशहर स्वास्थ्य विभाग के साथ मिलकर की छापेमारी मौके से तीन लोग गिरफ्तार पोर्टेबल अल्ट्रासाउंड मशीन भी बरामद


बुलन्दशहर : शुक्रवार को स्वस्थ्य विभाग की टीम की छापेमारी में एक टीकाकरण केन्द्र पर एक गैंग द्वारा पोर्टेबल अल्ट्रासाउंड मशीन द्वारा लिंग परीक्षण के खेल का खुलासा हुआ है खुर्जा देहात के गांव दीनोल निवासी एक आशा वर्कर के घर में टीकाकरण केंद्र की आड़ में अवैध अल्ट्रासाउंड सेंटर चलने की शिकायत पर हरियाणा व बुलन्दशहर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने संयुक्त रूप से छापेमारी कर इस गोरखधंधे का खुलासा किया है छापेमारी के दौरान स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पोर्टेबल अल्ट्रासाउंड मशीन के साथ तीन युवकों को भी हिरासत में लिया है इस पूरे खेल में सबसे बड़ी चौकाने वाली बात यह है कि अल्ट्रासाउंड करने वाले तीनों युवक पेशे से डॉक्टर नहीं हैं स्वास्थ्य विभाग के चन्द कर्मचारियों की शह पर चल रहे इस खेल के कारण ही कोख में ही भ्रूण हत्या को भी बढ़ावा मिल रहा था शुक्रवार को हरियाणा के रेवाड़ी जनपद की स्वास्थ्य विभाग की टीम ने बुलन्दशहर स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ मिलकर अवैध अल्ट्रासाउंड करने वाले फर्जी गैंग का राजफाश करने के लिये एक प्रपंच रचा स्वास्थ्य विभाग की टीम ने लगभग 80 दम्पत्तियों को पांच- पांच सौ रुपए लेकर खुर्जा देहात के दीनोल गांव अल्ट्रासाउंड कराने भेजा एक महिला का अल्ट्रासाउंड के दौरान ही दोनों टीमों ने संयुक्त रूप से छापेमारी कर तीन युवकों को हिरासत में ले लिया छापेमारी के दौरान टीम को एक पोर्टेबल अल्ट्रासाउंड मशीन, एक कार व चन्द डॉक्टरों के विजिटिंग कार्ड भी बरामद हुए हैं अवैध अल्ट्रासाउंड सेंटर पर डॉक्टरों के विजिटिंग कार्ड मिलने पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने यह अंदेशा भी जताया है कि यह डॉक्टर ही इन अल्ट्रासाउंड करने वाले लोगों के पास महिलाओं को लिंग परीक्षण कराने के लिए भेजते हैं यही नहीं अवैध अल्ट्रासाउंड करने वाला यह गैंग लिंग परीक्षण के लिए चार से पांच हजार रुपए तक वसूलता था यही नहीं यह फर्जी अल्ट्रासाउंड करने वाली टीम मुरादाबाद,जेपीनगर,अलीगढ़, मेरठ व गाजियाबाद आदि स्थानों पर समूह बनाकर महिलाओं का लिंग परीक्षण करने जाते थे और उसकी एवज में मोटी रकम वसूलते थे वहीं बुलन्दशहर स्वास्थ्य विभाग में तैनात डिप्टी सीएमओ अशोक तालियान ने बताया कि ये फर्जी अल्ट्रासाउंड करने वाला गैंग कोख में पल रही बच्चियों की भ्रूण हत्या के लिए नामचीन चिकित्सकों के पास भेज देता था वहीं इस अवैध अल्ट्रासाउंड के कारोबार में स्वास्थ्य विभाग बुलन्दशहर के कर्मचारियों की मिलीभगत की बात भी आला अधिकारी दबी ज़ुबान से कह रहे हैं । साथ ही मामले में लिप्त कर्मचारियों के खिलाफ कार्यवाही की तैयारी में भी स्वास्थ्य विभाग जुट गया है हरियाणा व बुलन्दशहर स्वास्थ्य टीम की छापेमारी में इस गोरखधंधे में शामिल तीन आरोपियों सुबोध शर्मा,संजय व भूपेंद्र को हिरासत में लिया है जबकि जिस आशा वर्कर राजकुमारी पत्नी कुशलपाल सिंह, के घर में यह सेन्टर चल रहा था वह मौके से फरार हो गई छापेमारी के दौरान टीम को अल्ट्रासाउंड सेन्टर से 65 हजार रुपए और एक कार भी बरामद हुए हैं वहीं स्वास्थ्य विभाग की एक महिला कर्मचारी का नाम भी इसमें सामने आ रहा है जिसके बारे में स्वास्थ्य विभाग अभी जांच की बात कह रहा है वर्जन हरियाणा स्वास्थ्य विभाग के साथ मिलकर अवैध अल्ट्रासाउंड के जरिये लिंग परीक्षण करने वाले गैंग का भंडाफोड़ किया गया है इस पूरे मामले में स्वास्थ्य विभाग के भी कुछ कर्मचारियों के लिप्त होने की जानकारी मिली है मामले की जांच कर सभी दोषियों कर्मचारियों के खिलाफ निलंबन की कार्यवाही की जाएगी।