उन्नाव की बेटी को जल्द मिलेगा न्याय, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

 फास्ट ट्रैक कोर्ट में केस चलेगा, गाजियाबाद के डीएम-एसएसपी को मुख्यमंत्री ने भेजा दिल्ली


लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उन्नाव के बिहार थाना क्षेत्र में जलाई गई रेप पीड़िता की कल देर रात दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज के दौरान मृत्यु होने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि उन्नाव की बेटी के मामले में हर हालत में न्याय होगा, केस फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलेगा। मुख्यमंत्री ने इस मामले में आज सुबह-सुबह ही अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि ये एक बड़ा झटका है। सरकार एवं डाॅक्टरों ने पीड़िता को बचाने के लिए हर संभव कोशिश की। पांचों आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। मुख्यमंत्री ने गाजियाबाद के डीएम एवं एसएसपी को दिल्ली भेजा है तथा निर्देश दिए हैं कि वे सरकार के प्रतिनिधि के रूप में परिवार से संपर्क कर शव को उन्नाव तक पहुंचाने की उचित व्यवस्था करें। प्रदेश के कानून मंत्री बृजेश पाठक ने कहा कि फास्ट ट्रैक कोर्ट में केस चलाए जाने के लिए गृह विभाग ने लिखापढ़ी शुरू कर दी है, दोषियों को जल्द सजा दिलाएंगे। उधर दिल्ली में मृतका के भाई एवं पिता ने कहा कि जैसे हैदराबाद की घटना में “इंसाफ” हुआ वैसा ही “इंसाफ” हमें भी चाहिए है। भाई ने कहा कि सफदरजंग अस्पताल में लाए जाने के बाद भी मेरी बहन जिंदा थी वह मेरे गले लगी थी, उसने पूछा था कि मैं बच तो जाऊंगी न ? मैं जीना चाहती हूं। भाई ने कहा कि मरना तो मुझे चाहिए था जिसे जिंदा रहना था वह अब इस दुनिया में नहीं है।
मृतका के पिता ने कहा, उनकी बेटी के गुनहगारों को कड़ी से कड़ी सजा दिए जाने की जरूरत है। हैदराबाद कांड में जैसा हुआ है, वही सजा मिले-आरोपियों को दौड़ाकर गोली मारी जाए या फिर फांसी दी जाए। पिता ने कहा कि मुझे पैसे का कोई लालच नहीं है।